Point 2 Point News
Business Hindi News International Main Story

जुलाई में अंतरराष्ट्रीय उड़ाने शुरू करने की तैयारी

नई दिल्ली, 23 मई : नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी आज 23 मई शनिवार को अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर लाइव हुए. इस दौरान उन्होंने कहा कि अगस्त से पहले हम अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए उड़ानें शुरू कर सकते हैं. फ्लाइट शुरू करने से पहले कोरोना वायरस के हालात का आकलन किया जाएगा. उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू करने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी व एयरलाइंस कंपनियां पूरी तरह से तैयार हैं.

उन्होंने बताया कि अभी तक वंदे भारत मिशन के तहत 25 हजार 465 भारतीयों को वापस लाया जा चुका है और मई के अंत तक यह आंकड़ा 50 हजार के करीब हो जाएगा. इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए निजी एयरलाइंस ने भी प्रस्ताव भेजा था, जिसे हमने स्वीकार कर लिया है. इसलिए जल्द ही वंदे भारत ऑपरेशन में निजी एयरलाइंस के एयरक्राफ्ट को भी लगाया जाएगा.

उन्होंने कहा कि वह आरोग्य सेतु एप सभी को डाउनलोड करने की सलाह देंगे. यह एक बेहतरीन कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग डिवाइज है. हालांकि, आरोग्य सेतु एप पर ग्रीन स्थिति वाले यात्रियों को क्वारंटीन में भेजे जाने की जरूरत समझ से परे है. वंदे भारत फ्लाइट की संख्या में इजाफा होगा. साथ ही उन्होंने बताया कि भारत से लॉकडाउन के बीच आठ हजार लोगों को विदेश भी पहुंचाया गया है. ये लोग विदेश में नौकरी करते थे.

नागरिक उड्डयन मंत्री ने कहा कि देश में 25 मई से घरेलू उड़ाने शुरू हो रही हैं. एयरलाइन कंपनियों ने टिकट बुकिंग की सुविधा शुरू कर दी है. बुकिंग के पहले दिन कई लोगों ने टिकट लिए हैं. फ्लाइट सेवा की काफी मांग है. इसके मद्देनजर 25 मई से 33 फीसदी घरेलू उड़ानें शुरू हो रही हैं. श्रीलंका में फंसे भारतीयों को वापस लाने की भी योजना बनाई जा रही है. उन्हें शिप या फ्लाइट के जरिए स्वदेश लाया जा सकता है. पहले लाइफ लाइन उड़ान भी शुरू की गई थी, जिसके जरिए एक हजार टन मेडिकल उपकरण और अन्य जरूरी सेवाओं की सप्लाई देशभर में की गई. अगर किसी यात्री में कोरोना का कोई लक्षण होगा, तो उसे एयरपोर्ट में ही पकड़ लिया जाएगा. इस बारे में लगातार चर्चा चल रही है और अगले एक या दो दिनों तक सभी बातों को साफ कर दिया जाएगा. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि घरेलू उड़ान के लिए एसओपी जारी कर दी गई है. यात्रियों को एयरपोर्ट पर दो घंटे पहले आना होगा और मास्क पहनना अनिवार्य होगा. सभी को सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करना होगा. साथ ही एक सेल्फ डेक्लेरेशन देना होगा कि उनमें कोरोना वायरस का कोई लक्षण नहीं है. तभी बोर्डिंग पास मिलेगा.