Point 2 Point News
Business Hindi News

सर्वे : नींद भगाने के लिए प्रत्येक 5वां ड्राइवर गाड़ी चलाते समय लेता है ड्रग

सर्वे : नींद भगाने के लिए प्रत्येक 5वां ड्राइवर गाड़ी चलाते समय लेता है ड्रग

नई दिल्ली , 1 मार्च :देश के 10 ट्रांसपोर्ट हब में सेव लाइफ फाउंडेशन द्वारा किए गए सर्वे की रिपोर्ट में दावा किया गया कि पांच में से एक ड्राइवर ट्रक चलाते समय ड्रग लेता है. वजह- नींद ना आए और गाड़ी चलाने की वजह से होने वाली थकान दूर हो सके. ऐसे में कई ड्राइवर अपना संतुलन खो देते हैं, जिससे ट्रकों से हर साल 57 हजार हादसे होते हैं. इनमें 24 हजार लोग मारे जाते हैं, जबकि 50 हजार से ज्यादा लोग घायल हो जाते हैं.

केंद्रीय सड़क परिवहन राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने शुक्रवार को दिल्ली में यह रिपोर्ट जारी की. उन्होंने कहा- सड़क हादसों को कम करने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है. इसके लिए इस रिपोर्ट की भी मदद ली जाएगी.’

सर्वे में यह भी

सर्वे देश के 10 ट्रांसपोर्ट हब में दिल्ली-एनसीआर, जयपुर, अहमदाबाद, मुंबई, कानपुर, विजयवाड़ा, चेन्नई, बेंगलुरु, गुवाहाटी और कोलकाता जैसे बड़े शहर शामिल हैं. सर्वे में 1200 ट्रक ड्राइवरों को शामिल किया गया. सर्वे में शामिल 22% ड्राइवरों ने ड्रग लेने की बात भी स्वीकारी है.

सर्वे में ड्राइवरों ने बताया- हमें रोजाना औसतन 12 घंटे में 417 किमी गाड़ी चलानी पड़ती है. समय पर पहुंचना बड़ी चुनौती होती है. नींद और थकान न आए इसलिए ड्रग लेनी पड़ती है.’वहीं, 10 में से 9 ड्राइवरों ने स्वीकारा कि उन्होंने ड्राइविंग लाइसेंस लेने से पहले औपचारिक ट्रेनिंग नहीं ली है.