Point 2 Point News
Hindi News Main Story

दिल्‍ली हिंसा: अब तक 22 मामले दर्ज़ , 200 लोग हिरासत में

नई दिल्‍ली, 27 जनवरी ( P 2 P ): दिल्‍ली की सड़कों पर 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर हुई हिंसा को लेकर अभी तक 22 मामले दर्ज़ हो चुके है और 200 हिंसाकारियों को हिरासत में लिया जा चूका है। मुक्कदमों में किसान नेताओं के भी नाम है जिनमे बलबीर सिंह राजेवाल , योगेंद्र यादव , दर्शन पाल , गुरनाम चूढ़नी भी शामिल है। दिल्ली हिंसा की हर ओर आलोचना हो रही है. किसान ट्रैक्‍टर रैली के दौरान हुए उपद्रव में दिल्‍ली पुलिस को भी निशाना बनाया गया. वहीं दिल्‍ली पुलिस ने इस हिंसा को लेकर जांच तेज कर दी है. दिल्‍ली पुलिस के सूत्रों का कहना है कि सेंट्रल दिल्ली में हुई हिंसा में गैंगस्टर व एक्टिविस्ट लख सदाना की भूमिका की जांच की जा रही है.

सूत्रों के मुताबिक, सेंट्रल दिल्ली में लक्खा सिदाना और उसके करीबियों पर दिल्ली पुलिस पर हमले का रोल सामने आया है. ये सभी सेंट्रल दिल्ली में हुई हिंसा में सक्रिय थे. लक्खा सिदाना पर पंजाब में 2 दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज हैं. इसमें गैंगस्टर एक्ट भी शामिल है. सिदाना किसान आंदोलन में काफी दिनों से एक्टिव है. पुलिस अब उसकी भूमिका को लेकर जांच कर रही है.

दिल्ली पुलिस ने 26 जनवरी को हुए उग्र भीड़ के पुलिस पर हमले में अब तक 300 पुलिसकर्मियों के घायल होने की सूचना है. इस संबंध में अबतक 22 एफआईआर दर्ज की गई हैं, जिसमें ईस्ट दिल्ली, द्वारका और पश्चिमी दिल्ली में 3-3 एफआईआर, 2 आउटर नार्थ, एक शाहदरा और एक नार्थ जिले में दर्ज हुई हैं जिनकी संख्या बढ़ सकती हैं. दिल्ली के 6 जिलों में दर्ज की गई इन एफआईआर में बलवा, सरकारी संपत्ति को नुकसान और हथियार लूटने जैसी धाराएं शामिल हैं