चलो बुलावा आया है , नरेंद्र चंचल नहीं रहे

नई दिल्ली, 22 जनवरी : मशहूर भजन गायक नरेंद्र चंचल का निधन हो गया है. वे बीते तीन माह से बीमार चल रहे थे और दिल्ली के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था. 80 साल की उम्र में उन्होंने आखिरी सांस ली. जानकारी के मुताबिक, नरेंद्र चंचल ने दिल्ली के अपोलो अस्पताल में शुक्रवार दिन में करीब 12.15 बजे अंतिम सांस ली. नरेंद्र चंचल का चलो बुलावा आया है, गीत बहुत चर्चित हुआ था.

नरेंद्र चंचल ने भजनों के साथ ही हिन्दी फिल्मों में भी गीत गाए हैं. पंजाब समेत समूचे उत्तर भारत में उनकी ख्याति रही. भजन संध्या और जागरण को उन्होंने एक नई दिशा दी.

नरेंद्र चंचल के गीतों के बगैर नवरात्र की कल्पना नहीं की जा सकती है. नरेंद्र चंचल के बारे में कहा जाता है कि वे बचपन में अपनी मां कैलाशवती के मुंह से माता के भजन सुना करते थे. इसी से उनमें संगीत के प्रति रुचि जगी. वहीं उनका नाम चंचल पढऩे के पीछे भी एक कहानी बताई जाती है. कहा जाता है कि वे बचपन में बहुत शरारती थे और पढ़ाई-लिखाई में मन नहीं लगता था. उसी समय एक शिक्षका ने चंचल नाम दिया था. आगे चलकर यही उनका नाम पड़ गया.