इतवार का दिन होगा वर्ष का सबसे छोटा दिन और बड़ी रात.

नई दिल्ली , 21 दिसंबर । हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी 22 दिसंबर, रविवार को वर्ष का सबसे छोटा दिन और सबसे बड़ी रात होगी। दिन जहां 10 घंटे 41 मिनट का होगा वहीं रात 13 घंटे 19 मिनट की होगी। इसके बाद सूर्य धीरे-धीरे उत्तर की ओर खिसकने लगेगा। ऐसा होने पर दिन बड़े होने लगेंगे और क्रमश: रात छोटी होने लगेंगी।

सूर्य के चारों ओर पृथ्वी के परिभ्रमण के कारण हर वर्ष 22 दिसम्बर को सूर्य मकर रेखा पर लम्बवत होता है, जिससे उत्तरी गोलाद्र्ध में सबसे छोटा दिन और सबसे बड़ी रात होती है।
खगोल शास्त्र के अनुसार 23 दिसंबर से सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेगा। सूर्य की गति उत्तर की ओर दृष्टिगोचर होना प्रारम्भ हो जाएगी। सूर्य का इस प्रकार उत्तरायण होना प्रारम्भ हो जाएगा। सूर्य की उत्तर की ओर गति का परिणाम मकर संक्रांति से सूर्य का उत्तरायण होना अर्थात उत्तरी गोलाद्र्ध में प्रवेश करना कहलाएगा। इसके चलते 23 दिसंबर से दिन धीरे-धीरे बड़ा होगा और रात छोटी होने लगेगी। ज्ञात रहे प्रतिवर्ष 21 मार्च को सूर्य विषुवत रेखा पर लम्बवत होता है। इसी कारण इस दिन, दिन और रात बराबर होते हैं।